Header Ads

बहुत उपयोगी है जामुन


जामुन  को कई नामों से जाना जाता है जैसे जम्बू, महाफला, जाबू, जामूल, शंबु, नेरेड तथा ब्लैक बेरी के नाम से।  जामुन के फल, पत्ते, गुठली, छाल, लकड़ी आदि सभी औषधि का काम करते है, इसीलिए इसका पेड़ अपने आप में अस्पताल है आइए जानते है इसके उपयोग के बारे में :



Image result for dub or ghans
  1. जामुन और आम का रस बराबर मात्रा में लेने से मधुमेह में लाभ मिलता है।  
  2. इसका फल अग्निवर्धक, पाचक यकृत को बल देने वाला, मूत्र में जाने वाली शक़्कर को लाभ करने वाला तथा आने वाले पेशाब में हितकर है।  
  3. यकृत संबंधी विकारो में जामुन का सेवन हितकर है। 
  4. पाचनतंत्र को इसका सेवन बलवान बनाता है। 
  5. कीमोथैरेपी और रेडियशन में जामुन खाना लाभकारी है 
  6. पानी के साथ पत्तों को पीसकर पानी में घोल कर कुल्ला करने से मुंह के छाले ठीक होते है।  
  7.  इसके बीज (गुठली ) पीसकर चूर्ण बना, सुबह-शाम पानी से सेवन करना मधुमेह में लाभकारी है। 
  8. अतिसार पत्तले दस्तों  के लिए इसके कोमल पत्ते दस ग्राम पीसकर बकरी के दूध से लेना हितकर है।  पका जामुन फल खाने से गुर्दे की पथरी गल जाती है।  जामुन का सिरका बनाकर सेवन करने से भूख खुलकर लगती है तथा पुरानी कब्ज भी ठीक हो जाती है।  
वैद्य हरिकृष्ण पांडेय 'हरिश '



कोई टिप्पणी नहीं