Header Ads

ज्यादा चीनी (Sugar) का सेवन करना ; बीमारियों को न्योता देना


चीनी (Sugar) जो हमारे मुंह मैं तो मिठास रखती हैं लेकिन हमारे शरीर के अंदर कड़वाहट घोलती है। चीनी जिसे हम आमतौर पर शक्कर भी कहते हैं इसका हम अपने निजी जीवन में बहुत ही ज्यादा उपयोग मैं लेते हैं। चीनी दो प्रकार की होती है (1) नेचुरल चीनी (2) कृत्रिम चीनी। आपको यह बता दें कि नेचुरल चीनी आमतौर पर फल - फ्रूट मैं पाई जाती हैं और यह हमारे शरीर के लिए लाभदायक होती है। लेकिन जो कृत्रिम चीनी होती हैं इसका उपयोग हम किसी भी पदार्थ को मीठा करने में लेते हैं यह हमारे शरीर के लिए हानिकारक होती हैं।

कृत्रिम चीनी हमारे शरीर का ब्लड प्रेशर अचानक से कम और ज्यादा कर देती हैं और यह हमें बहुत ही जल्दी से ऊर्जा प्रदान करती हैं लेकिन लॉन्ग टर्म में इसका उपयोग हमारे शरीर के लिए उल्टा हानिकारक ही रहता है। कृत्रिम चीनी हमारे शरीर के अंदर बहुत ही तेजी से आब्जर्वर होती हैं और हमें एनर्जी देती हैं लेकिन अगर ज्यादा मात्रा में चीनी का सेवन कर लिया गया है और यह हमारे लिवर के अंदर ओवरलोड हो जाती है और  फेट में कन्वर्ट हो जाती है। इसके कारण हमारे शरीर के अंदर फैटी लीवर जैसी बीमारियां अपना घर बना लेती हैं जो कि हमारे शरीर के लिए किसी भी प्रकार से सही नहीं है।

अब हम बात करते हैं चीनी के अधिक उपयोग के कारण हमारे शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव और कौन-कौन सी बीमारियों से संक्रमित होने का खतरा बना रहता है -

1 . हृदय संबंधी बीमारियां -
हमारे शरीर का सबसे मेन पार्ट हमारा हृदय होता है और ज्यादा चीनी का सेवन करना हमारे हृदय के लिए हानिकारक होता है। आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि ज्यादा चीनी का सेवन आखिरकार हार्टअटैक का कारण बनती है। यह हमारे शरीर का ब्लड प्रेशर इस हद तक कम और ज्यादा कर सकती हैं जिससे हमें दिल का दौरा पड़ने के ज्यादा संभावनाएं बन नहीं रहती है। मधुमेह यानी कि डायबिटीज भी ज्यादा चीनी का सेवन करने से ही होती हैं।

2 . मोटापा और फैटी लीवर -
आप यह सोच रहे होंगे कि चीनी खाने से मोटापा कैसे हो सकता है। लेकिन यह बात बिल्कुल सच है क्योंकि ज्यादा मात्रा में चीनी का सेवन करने से यह फेट में बदल जाती हैं और हमारे शरीर के अंदर मोटापे को बढ़ावा देती हैं। मोटापे के साथ साथ ही हमारे शरीर में फैटी (सूजा हुआ पेट) लीवर जैसी बीमारियों को बुलावा देती हैं जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक है।

3 . दांतों का समय से पहले गिरना -
खाना खाने के अंत में हम हमेशा से ही मीठी चीजों को खाना पसंद करते हैं तो उसके बाद कृपया करके अपने मुंह को अच्छे से साफ जरूर कर लें और याद रखें आप मीठा खाने के तुरंत बाद ब्रश ना करें क्योंकि तुरंत ब्रश करने से चीनी और एसिड आपस में मिलकर क्रिया करके हमारे दांतो को कमजोर करते हैं। हमारे दांत कमजोर होकर गिरना शुरु हो जाते हैं। इससे बचने के लिए आप पहले अपनी अंगुली से दांतों को साफ करें उसके बाद ब्रश करें।

4 . हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा को कम करने में -
मधुमेह से पीड़ित रोगी को हमेशा अपने शरीर के अंगों में दर्द से कराहते हुए देखा होगा । यह दर्द ज्यादा चीनी के सेवन के कारण रहता है क्योंकि चीनी हमारे शरीर के अंदर हड्डियों को कमजोर बनाती हैं और हड्डियों के अंदर मौजूद कैल्शियम को धीरे-धीरे खत्म करती है।

5. चीनी एक तरह से लत रोग -
आमतौर पर कुछ लोग मीठी चीजों का सेवन करना कुछ ज्यादा ही पसंद करते हैं और धीरे-धीरे उनको मीठा खाने की लत लग जाती है। जिसे डोपामाइन हार्मोन डिमांड भी कहा जाता है और इसमें व्यक्ति को बार-बार मीठा खाना पड़ता है अपना मूड बनाने के लिए। यह हमारे शरीर पर बहुत ही ज्यादा प्रभावित असर करती हैं और शरीर को समय आने से पहले ही कमजोर और बुड्ढा बना देती हैं।


कोई टिप्पणी नहीं