Header Ads

चर्म रोग में तिल का तेल

चर्म रोग में तिल का तेल 









  1. सर्दी के मौसम में इसके तेल की मालिश ठंड से बचाती है। तिल के लड्डू बनाकर खाने से शरीर बलवान बनता है। 
  2. तिल के सेवन से महिलाओं के स्तनों में दूध की वृद्धि होती है। 
  3. इसका तेल चरम रोग में लाभ करता है। 
  4. खांसी में तिल का काढ़ा बनाकर मिश्री मिलाकर पीने से जमा हुआ कफ निकल जाता है। 
  5. 10 ग्राम तिल का चूर्ण बनाकर दिन में तीन बार खाने से मासिक नियमित होता है। 
  6. तिल को पीसकर बिच्छू, ततैया के डंक वाले स्थान पर लगाने से जहर उतरता है। 
  7. तिल  और मिश्री उबालकर पीने से खांसी - नजला में लाभ होता है। 
  8. सिरदर्द में इसके पत्ते पीसकर लेप करने से लाभ होता है। 
  9. तिल की जड़ और पत्तों का काढ़ा बनाकर बाल धोने से बाल गिरना बंद होगा, बाल काले और मुलायम होंगे। 
  10. तिल और गुड़ मिलाकर कूटकर बच्चों को खिलाने से बिस्तर गिला नहीं करेंगे गिला नहीं करेंगे 


वैद्य हरिकृष्ण पाण्डेय 'हरीश '


कोई टिप्पणी नहीं