Header Ads

जोड़ों के दर्द से पाए राहत

जोड़ों के दर्द से पाए राहत 

जोड़ो का दर्द या तो किसी को भी, कभी भी जोड़ों का दर्द हो सकता है लेकिन जाड़े में यह दर्द ज्यादा ही सताता है, तो यह टिप्स अपना सकते हैं।












एड़ियां टखनों में दर्द हो तो गर्म पानी में नमक डालकर सेंकने और धूप में बैठकर किसी दर्दनाशक तेल या सिर्फ सरसों के तेल की मालिश से लाभ होता है।

घरेलू उपचार में मेथी, सौंठ, अजवाइन आदि का सेवन उपयोगी होता है। मेथी को भून -पीसकर पाउडर बना लें। आटे- घी में भूनकर मेथी का आटा मिला खांड मिलाकर लड्डू बनाए, सुबह नाश्ते में खाने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।  ठंड भी कम लगती है।

सवेरे शाम घूमना दर्द में राहत देता है साथ ही सोंठ  को पीसकर चूर्ण बनाकर आधा-आधा चम्मच गर्म दूध या पानी से लेना हितकारी होता है।

सोंठ का चूर्ण एक चम्मच एक गिलास पानी में डालकर खूब आग  पर पकाएं आधा पानी जल जाए तो उतार कर जरा सा काला नमक और हींग मिलाकर पीने से शरीर के जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

अदरक सौ ग्राम कूटकर पाव भर तिल के तेल में पकाएं। चढ़ चढ़  की आवाज आनी बंद हो जाए तो ठंडा करके मालिश करने से बाय-बादी  के दर्द में लाभ होता है।

ज्यादा सर्दी लगने लगे, हाथ पैर ठंडे रहते हो तो अदरक के साथ थोड़ा लहसुन भी मिला लें लाभ होगा।

अजवाइन या खुरासानी अजवायन को पानी में पीसकर लुगदी बना ले, फिर तेल के या सरसों के तेल में डालकर खूब पकाएं, बादामी रंग होने पर उतारकर लुगदी फेंक दें। तेल  मालिश के काम में लें।  कमर दर्द, घुटने के दर्द, जोड़ों के दर्द में लाभकारी होगा।

अश्वगंधा के चूर्ण को चौथाई चम्मच गर्म दूध के साथ लेने से गठिया में लाभ होता है।

बाय -बादी के दर्द में अश्वगंधा रसायन, सौभाग्यशुष्ठी  पाक, कौंच पाक, योगराज गूगल, सिंहनाद गुगल आदि तथा मालिश के लिए महाविषगर्म तेल, नारायण तेल, बृ. सैंधवादी तेल उपयोगी होता है।



वैद्य हरिकृष्ण पाण्डेय 'हरीश'

कोई टिप्पणी नहीं