Header Ads

खजूर खाये बुद्धि बढ़ाये

खजूर खाये बुद्धि बढ़ाये


खजूर को स्वस्थ आहार का हिस्सा माना जाता है। इसमें लगभग सभी पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं। यह कई बीमारियों से हमें दूर रखने में तो सहायता करता ही है, दवा के रूप में काम आता है। 



सर्दी का मौसम शक्ति संचय के लिए बेहद उपयुक्त होता है। इस मौसम में तरह-तरह के फल और सब्जियों के साथ-साथ पकवानों का लुत्फ उठाया जाता है। ऐसे ही फलों में एक है खजूर।

प्रकृति का अनुपम उपहार:- प्रकृति का यह अनुपम उपहार स्वाद के साथ-साथ कई औषधीय गुणों से भी  भरपूर है। यह दिल, दिमाग, कमर दर्द, कफ तथा आंखों की बीमारियों में लाभकारी है। इसमें 60 से 70 प्रतिशत तक शर्करा होती है लेकिन हानि रहित एवं पौष्टिकता से भरपूर।

कई तरह से फायदेमंद:- यह वात विकार नाशक, कफ निकालने वाला, पेशाब साफ करने वाला तथा शक्तिवर्धक होता है। धार खजूरों में लगभग 230 कैलोरी 2 ग्राम प्रोटीन, 62 ग्राम कार्बोहाइड्रेट तथा 570 मिग्रा पोटैशियम पाया जाता है। इसमें वसा की मात्रा बिलकुल नहीं होती।

दुर्बलता दूर करे:- यह मस्तिष्क दुर्बलता, कब्ज, रक्तचाप, मासिक धर्म, खांसी एवं जुओं में भी काफी उपयोगी साबित होता है। दमा (अस्थमा) पक्षाघात, लकवा (राजक्षमा), क्षय रोग एवं गुर्दे की बीमारियों में भी उपयोगी है।

पेशाब की समस्या में लाभकारी:-  बिस्तर पर पेशाब करने वाले बच्चों को छुआरा खिलाना हितकर है। बुढ़ापे में (पौरुष ग्रंथि) प्रोस्टेट ग्लैण्ड की विकृति के कारण बार-बार और बूंद-बूंद आने वाले पेशाब की समस्या में छुआरा खाने से लाभ होता है।

कमर दर्द में फायदेमंद:- मासिक धर्म की विकृत्ति और कमर दर्द में दूध के साथ छुआरा खाना उपयोगी है। दांतों में कैल्शियम की कमी को भी दूर करता है।

रक्तचाप पार काबू रखे:- निम्न रक्तचाप (लो ब्लड प्रेशर) में गुठली निकालकर तीन चार खजूर गाय के गर्म दूध में डालें और उसका सेवन करें, काफी लाभ होगा।

कब्ज से छुटकारा दिलाए:- कब्ज के लिए सवेरे शाम तीन-तीन छुआरे गर्म पानी से लेने से लाभ होता है। खजूर की गुठली जलाकर उस राख को पुराने घाव पर लगाने से घाव ठीक होते हैं। आंखों की कमजोरी दूर करने के लिए दूध की सहायता से खजूर खाना लाभकारी है।

कमजोर बच्चे को ताकत दे:-श्वास रोग में सोंठ के चूर्ण में खजूर मिलाकर पानी के साथ खाना हितकर है। बच्चों के सूखा रोग या कमजोर बच्चों को खजूर और शहद मिलाकर खिलाना हितकर है।

बवासीर से मुक्ति दिलाए:- बवासीर (अर्श) से परेशान हैं तो सोते समय तीन-चार खजूर गर्म पानी से खाना लाभकारी रहता है। कमजोर शरीर वालों के लिए खजूर वरदान है। सुबह-शाम गर्म दूध की सहायता से खजूर लेने से दुर्बलता दूर होती है।

जुकाम पर जादुई असर:-जुकाम होने पर तीन चार खजूर एक ग्लास दूध में उबाल कर गुठली निकाल कर खजूर खाकर सिर ढक कर सो जाएं।

बुद्धि बढ़ाए:- मानसिक विकास के लिए दूध की सहायता से खजूर का सेवन फायदेमंद होता है।

वैद्य हरिकृष्ण पाण्डेय 'हरीश'


कोई टिप्पणी नहीं