Header Ads

विपरीत आहार से हानि

विपरीत आहार से हानि 

विपरीत आहार यानी बे-मेल-खान-पान।  लाभकारी फल किसी बेमेल पदार्थ के साथ खा लिया जाये तो न केवल छोटी-मोटी गड़बड़ी बल्कि की बार तो भीषण समस्या भी खड़ी हो जाती है।  





  1. सभी प्रकार के अम्ल रस इमली, अमचूर आदि का सेवन दूध के साथ न करे।  
  2. मूली खाकर दूध नहीं पीना चाहिए। 
  3. मूली के साग में मक्खन मिला कर खानी हानिकारक है।  
  4. उड़द की दाल के साथ सलाद के रूप में मूली नहीं खानी चाहिए।  
  5. कमलमूल शहद के साथ खाना वर्जित है।  
  6. मछली एवं सूअर के मांस को सरसो के तेल में नहीं पकाना चाहिए।  
  7. दही के साथ मुर्गा का मांस नहीं खाना चाहिए। 
  8. दूध के साथ क्षार नमक का प्रयोग न करे। 
  9. पीलू एवं कैर के फल साथ नहीं खाये जाते। 
  10. केला के साथ छाछ का प्रयोग वर्जित है। 
  11. कांसी के बर्तन में रखा घी दस दिन बाद विष बन जाता है। 
  12. शराब, खिचड़ी और खीर साथ खाना वर्जित है। 
  13. शहद और घी खाकर वर्षा का पानी नहीं पीना चाहिए। 
  14. हलुआ, घी खा कर पानी हानिकारक है।  
  15. पहले चाय, काफी बाद में शीतल पेय नहीं लेना चाहिए। 
जंहा तक सम्भव हो विपरीत आहर से बचे स्वय को स्वस्थ और परिवार को परेशानियो से दूर रखे।  


वैद्य हरिकृष्ण पाण्डेय 'हरीश '

कोई टिप्पणी नहीं