Header Ads

डिस्पोजल में चाय पीने से हो सकते है ये नुकसान

डिस्पोजल की गिलासों में चाय पीने से काफी नुकसान होते हैं| डिस्पोजल हमारे शरीर के लिए काफी नुकसानदायक  होता है| इसमें गर्म पानी या  गर्म चाय का इस्तेमाल करने से हमें सांस की बीमारी भी हो सकती है| और शरीर का वजन भी काफी तेजी से बढ़ता है|  शरीर काफी हद तक फूलने लगता हैजानकारी के अभाव के कारण लोग आजकल डिस्पोजल की गिलास का  काफी इस्तेमाल करते हैं| हालांकि सरकार द्वारा डिस्पोजल के गिलासों को बंद करा दिया गया है| पर फिर भी कुछ राज्यों में इनका इस्तेमाल काफी हद तक किया जाए| यह  मनुष्य जीवन के लिए काफी नुकसानदायक होते हैंडिस्पोजल गिलास  से होने वाली कुछ गंभीर समस्याओं से आज हम आपको अवगत कराएंगे|





पेट से सम्बंधित रोग

 डिस्पोजल की गिलास में गर्म पानी या गर्म चाय पीने से पेट संबंधित काफी बीमारियां होती है| इसका इस्तेमाल करने से पेट काफी हद तक फूलने लगता है| और पेट में गैस की समस्या भी होती है| और पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है| खाना अच्छी तरह से  पाचन नहीं हो पाता है| हमें डिस्पोजल की गिलासों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिएयह शरीर को कमजोर बना देता है|
वजन बढ सकता है
डिस्पोजल की गिलास में चाय या पानी पीने से  हमारे शरीर का वजन काफी जल्दी बढ़ता हैइनमें हमारे शरीर को कमजोर करने के लिए काफी केमिकल मौजूद होते हैं|  डिस्पोजल की गिलास हमारे शरीर को अंदर से खोखला कर  देते हैं| इनका कम से कम इस्तेमाल करना ही शरीर के लिए फायदेमंद है|
कैसर की समस्या
 डिस्पोजल की गिलास में पानी पीने से कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी भी हो सकती है| सूत्रों के मुताबिक पिछले 5 सालों में 30 से 40% लोग कैंसर से पीड़ित मिले| जिसमें 25 से 30  प्रतिशत  केवल डिस्पोजल की गिलास   के इस्तेमाल के कारण कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी से  परेशान हैं| कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी का  अभी तक कोई इलाज नहीं मिला है| इस गंभीर बीमारी से बचने के लिए हमें डिस्पोजल की गिलासों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए|


दिमाग को कम करे
सर्वे के मुताबिक  डिस्पोजल की गिलासों का इस्तेमाल करने वाले लोगों का दिमाग काफी कमजोर हो जाता है| उनकी सोचने की शक्ति खत्म होने लगती है| और उनका शरीर काफी बड़ा होने लगता है| पेट फूल जाता है| उन्हें काफी बीमारियों का सामना भी करना पड़ता है| डिस्पोजल की गिलास में चाय और पानी पीने से उनका दिमाग  काम करना बंद कर देता है|


कोई टिप्पणी नहीं