Header Ads

क्यों होता है गोमूत्र स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

हिंदू धर्म के अनुसार गाय को माता का दर्जा दिया जाता है कहा जाता है कि गाय हमारी माता है| क्या आप जानते हैं गाय का गोमूत्र मनुष्य जीवन के लिए काफी लाभकारी होता है| गोमूत्र से काफी सारी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है| शास्त्रों के अनुसार पुराने जमाने में लोग इससे ही बीमारियों का इलाज करते थे| गाय के गोमूत्र से 122 बीमारियां दूर की जा सकती है| हिंदू धर्म के अनुसार गाय का गोमूत्र पीने से शरीर शुद्ध हो जाता है| पर कुछ लोग इसे अंधविश्वास समझते हैं| पर हम आपको बता दें कि यह बात बिल्कुल सच है गाय के गोमूत्र से 122 बीमारियां ठीक की जा सकती हैं|| पहले लोग  ताजे गाय के गोमूत्र को प्रयोग करते थे पर आजकल  डॉक्टर उसे  सालों तक इकट्ठा करके दवाइयां बनाते हैं और वही दवाइयां हम लोग दुकानों से खरीदते हैं  सर्वे के मुताबिक 80% से अधिक दवाइयों में गोमूत्र का प्रयोग किया जाता है गोमूत्र सभी प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए लाभकारी होता है|





 पेट के रोग

 पेट की सभी प्रकार की समस्याओं को दूर करने के लिए गोमूत्र का प्रयोग किया जाता है जैसे पेट खराब हो जाना पेट दर्द करना और भी प्रकार की बीमारियों का इलाज किया जा सकता है| गोमूत्र मनुष्य जीवन में एक वरदान साबित होता है| इससे किसी भी प्रकार की बीमारी दूर  की जा सकती है|

चर्म रोग

त्वचा में होने वाली बीमारियां गोमूत्र से  ही ठीक की जाती हैपर केवल आजकल  प्रयोग करने के तरीके बदल चुके हैं| पहले लोग गोमूत्र से नहा कर त्वचा की समस्याओं को दूर करते थे| पर आजकल लोग गोमूत्र से नहाना नहीं चाहते हैं | आजकल उसी गोमूत्र से डॉक्टर दवाइयां बनाते हैं और उसके बाद लोगों को  देते हैं| दवाइयां खाने से कुछ महीनों में त्वचा की समस्या दूर तो हो जाती है पर उससे हमारे शरीर में नुकसान भी होते हैं इसलिए ताजे गोमूत्र का प्रयोग करना चाहिए|

पीलिया

 पीलिया एक गंभीर बीमारी है इसका इलाज लंबे समय तक चलता है पहले लोग गोमूत्र से ही दिनों में पीलिया की बीमारी को खत्म कर देते थे और आजकल लोग इसे पीना गंदा समझते हैं| इसलिए लोग आजकल दवाइयों का प्रयोग करते हैं और उसे ठीक होने में काफी समय लग जाते हैं |पहले लोग गोमूत्र को  पिया करते थे उसे काफी जल्दी पीलिया रोग शरीर से दूर हो जाता था|

श्वास रोग

श्वास की बीमारी  बहुत ही बुरी मानी जाती है कहा जाता है जिस  आदमी को सांस की बीमारी होने लगती है वह जिंदगी में फिर कुछ भी नहीं कर सकता| सांस की बीमारी एक बार लग जाने से कई सालों तक दूर नहीं होती है| इस  लाइलाज बीमारी का इलाज केवल गोमूत्र से ही किया जा सकता है| पर लोग आजकल गोमूत्र को गंदा समझते हैं इसलिए वह अपनी बीमारी का इलाज नहीं कर पाते हैं|पहले लोग कुछ ही महीनों में श्वास की बीमारी से भी आसानी से निजात पा लेते थे| वे  गोमूत्र को रोजाना पीते थे उससे कुछ ही महीनों में  श्वास की समस्या पूरी तरीके से खत्म हो जाती  थी|

नेत्र रोग 


 आजकल यह समस्या काफी देखने को मिलती है  पहले लोग चश्मा का इस्तेमाल नहीं करते थे आंखों में कमजोरी होने पर गोमूत्र के इस्तेमाल से कुछ ही दिनों में आंखों की रोशनी दोबारा वापस ले आते थे| पर आजकल लोग आंखें कमजोर होने पर सालो सालो तक चश्मा पहने रहते हैं इससे उनकी आंख बाकी खराब होने लगती है|  अगर आपको आंखों की बीमारी है तो आपको रोजाना गोमूत्र का उपयोग करना होगा इससे कुछ ही महीनों में आपकी आंखों की रोशनी दोबारा वापस आ जाएगी| शास्त्रों के अनुसार  गोमूत्र आंखों की लाइलाज बीमारी को भी दूर कर देता है|

कोई टिप्पणी नहीं