Header Ads

इन पत्तो को चबाने से कभी नहीं होता सिर दर्द

पेड़ों की पत्तियां  एक आयुर्वेदिक दवा के रूप में काम करती हैं| आज हम आपको कुछ ऐसी  पेड़ों की पत्तियों के बारे में बताएंगे जिनको खाने से  सर दर्द की समस्या नहीं होती है| हम आपको बता दें जो भी अंग्रेजी दवाइयां बनती हैं उनको बनाने के लिए पेड़ों की जड़ों और पत्तियों का इस्तेमाल सबसे अधिक किया जाता है| कुछ ऐसी पत्तियां हैं जिनको आप घरेलू उपचार के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं| सर दर्द को  घर पर ही दूर करने के लिए आप इन पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं| इनके सेवन से  आपको सर दर्द की समस्या नहीं होगी|





अमरुद के पत्ते
 अमरूद के पत्ते सर दर्द की समस्या के लिए काफी गुणकारी माने जाते हैं| छोटे-छोटे हरे पत्ते  चबाने से  सर दर्द की समस्या दूर होती है| इसका रोजाना इस्तेमाल करने से दिमाग भी तेज होता है| और  सर दर्दसर चकराना  आदि समस्याएं नहीं होती हैं| आपको भी सर दर्द की समस्या है तो आप भी अमरूद के पत्तों का  इस्तेमाल कीजिए| अमरूद की छोटी-छोटी  कलियों वाले पत्ते  सर दर्द की समस्या से काफी जल्दी निजात दिलाते हैं|
ब्रामिन के पत्ते
 ब्राह्मी एक  आयुर्वेदिक औषधि है| यह काफी सारी बीमारियों के लिए काम आती है| दिमाग को तेज करने के लिए भी   ब्रामिन को खाया जाता है| गुस्से को शांत करने के लिए भी  ब्रामिन का इस्तेमाल किया जाता है| और ब्लड प्रेशर की समस्या वालों के लिए भी ग उपयोगी माना जाता है| ब्रामिन काफी  उपयोगी माना जाता हैब्रामिन के पत्तों का इस्तेमाल करने से  सर दर्द की समस्या को काफी जल्दी दूर किया जा सकता है| और ब्रामिन  के पत्तों का रोजाना सुबह इस्तेमाल करने से  सिर दर्द की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है|
नीम  के पत्ते
 नीम के पत्ते काफी गुणकारी माने जाते हैं| नीम के पत्तों का पानी पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है| और जिन को ज्यादा गुस्सा आता है उनके लिए भी नीम का पानी और नीम के पत्ते काफी फायदेमंद माने जाते है| नीम के पत्तों से  सर दर्द की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है| रोजाना एक या दो नीम के चबाने से  सर दर्द की समस्या कभी नहीं होती है| इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए हमें सुबह के समय रोजाना नीम के पत्तों का पानी पीना चाहिए| जिससे शरीर का वजन  सीमित रहता है और  और काफी सारी बीमारियों से भी  छुटकारा मिलता है|
तुलसी के पत्ते

 तुलसी के पत्ते काफी गुणकारी माने जाते हैं|  इनको आयुर्वेदिक दवा का रुप ही माना जाता है| हमारे भारतवर्ष में  तुलसी के पत्तों की  पूजा भी की जाती है| इनको भगवान का दर्जा दिया जाता है|  कहा जाता है कि 60 प्रतिशत से  अधिक दवाइयों को बनाने के लिए तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है| तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करने से सर दर्द की समस्या को काफी जल्दी खत्म किया जा सकता है| और  इससे  हमेशा के लिए निजात पाने के लिए  रोजाना सुबह  तुलसी के पत्ते चबाने चाहिए|


कोई टिप्पणी नहीं